बरसात के मौसम में मलेरिया के मरीजों की संख्या में हो रहा लगातार इजाफा, 30 से अधिक लोग मलेरिया से ग्रसित

बरसात के मौसम में मलेरिया के मरीजों की संख्या में हो रहा लगातार इजाफा, 30 से अधिक लोग मलेरिया से ग्रसित

आशुतोष तिवारी : बस्तर में बरसात के शुरू होते ह़ी प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद मलेरिया के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। शहरी इलाके के साथ ग्रामीणो अंचलो में भी ब़डी संख्या में लोग मलेरिया के चपेट में आ रहे हैं, जिले के सबसे बड़े अस्पताल डीमरापाल मेडीकल कॉलेज में ह़ी पिछले कुछ दिनो मे 30 से अधिक लोग मलेरिया से ग्रसित होकर भर्ती हो चुके है इसके बावजूद प्रशासन मलेरिया की रोकथाम के लिए पर्याप्त उपाय करने में असमर्थ दिख रहा है।

बरसात के मौसम में मच्छरों की संख्या में हुआ इजाफा
जिले के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी का भी मानना है कि बरसात के मौसम के शुरू होते ह़ी मच्छरों की संख्या में काफी इजाफा होता है। इसलिए मलेरिया के चपेट में अधिक से अधिक लोग आते है। मेकाज में ह़ी अभी 25 से अधिक लोग मलेरिया से पीड़ित होकर भर्ती है। जिसमें बच्चो की संख्या ज्यादा है,स्वास्थ अधिकारी के मुताबिक जनवरी 2019 माह से जून माह तक 3000 से अधिक लोगो का मलेरिया टेस्ट किया गया है। जिसमे 700 से अधिक लोग मलेरिया पॉजिटिव पाये गये, जिसमे बच्चो और ग्रामीणो की संख्या ज्यादा है। 

स्वास्थ विभाग के अधिकारियों का दावा
हालांकि स्वास्थ विभाग के अधिकारी दावा कर रहे है कि जिले के सभी ब्लॉको के स्वास्थ केन्द्रो में मलेरिया से निपटने के लिए पर्याप्त दवाईया,संसाधन मुहैया करा दी गई है, लेकिन इन 6 महीनों में ही 8 लोगों की मलेरिया से मौत हो चुकी है,बावजूद इसके मलेरिया से निपटने के लिए स्वास्थ विभाग ने सिंथेटिक दवाईयो का छिडकाव किया है और न ही पर्याप्त मात्रा में ग्रामीण अंचलो में दवाईयां उपलब्ध कराई हैं, जिससे मलेरिया पीडितो की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है।

 


 


Share
Bulletin