अब ताजमहल से रुबरू होने करना होगा ज्यादा खर्चा, लिए दो बड़े निर्णय

अब ताजमहल से रुबरू होने करना होगा ज्यादा खर्चा, लिए दो बड़े निर्णय

दुनिया भर में मशहूर सात अजूबों में से एक ताजमहल से रुबरु होना अब थोड़ा महंगा होने वाला है। दरअसल केन्द्र सरकार ने घोषणा की है कि अब एंट्री टिकट की फीस बढ़ने वाली है।

3 घण्टे के लिए ही वैध रहेगा टिकट...

भारत सरकार के संस्कृति मंत्री डॉ महेश शर्मा ने ताजमहल देखने के लिए बढ़ी हुई फीस का ऐलान किया है। अब ताजमहल से रूबरू होने के लिए 50 रूपये एंट्री टिकट के लिए देने होंगे। इससे पहले टिकट की फीस 40 रूपये थी। साथ ही अब टिकट केवल 3 घण्टे के लिए ही वैध मानी जाएगी। पहले एक टिकट पर आप दिन भर ताजमहल परिसर में रह सकते थे। बढ़ाई गई फीस एक अप्रैल से लागू की जाएगी।

मकबरा देखने 200 रुपये अलग से...

साथ ही एक बड़ा बदलाव और किया जा रहा है। अब ताजमहल में मौजूद मकबरे को देखने के लिए प्रति व्यक्ति को 200 रुपये अलग से देने होंगे।पहले एंट्री फीस से ही मकबरे का भी दर्शन हो जाता था। जिसमें 15 साल तक के बच्चों का प्रवेश निशुल्क रखा गया है।

वहीं इस बढ़ोतरी पर संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने कहा है कि बढ़ोत्तरी का मक़सद राजस्व कमाना नहीं है। ताजमहल देश की एक धरोहर है, और उस धरोहर को बचाए रखना ज़रूरी है, ताकि आने वाली पीढियां भी उनका दीदार कर सकें। ऐसे में लोगों की आवाजाही पर थोड़ा नियंत्रण तो ज़रूरी है।

गौरतलब है कि भारत में पर्यटन के जरिए होने वाली कमाई में ताजमहल का महत्वपूर्ण योगदान है। केन्द्रीय संस्कृति राज्य मंत्री महेश शर्मा ने लोकसभा में बताया था कि साल 2013-14 से लेकर साल 2015-16 तक ताजमहल से टिकटों के जरिए 75.91 करोड़ रुपये की कमाई हुई है। दुनिया भर के देशों में ताजमहल को भारत की शान के रुप में जाना जाता है।

 


Share
Bulletin