पीएम मोदी ने नमो एप के जरिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

पीएम मोदी ने नमो एप के जरिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नमो एप के जरिये आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित का रहे हैं, इस दौरान उन्होंने बच्चों के पोषण के बारे में बताते हुए कहा कि देश की हर मां पर बच्चों को मजबूत करने का जिम्मा है। पोषण यानी खानपान, टीकाकरण, स्वच्छता, ऐसा नहीं है कि पहले लोग इस बारे में जानते नहीं थे। पहले इसकी कोई योजना नहीं थी इन तमाम बातों में पहले बहुत अधिक सफलता नहीं मिली, बहुत कम संसाधनों वाले देश भी इस मामले में हम से आगे निकल गए हैं।

उन्होंने कुपोषण से लड़ने के लिए भारत की रणनीति के बारे में बताते हुए कहा कि हमारी सरकार 2014 से ही बच्चों के उत्थान के लिए काम कर रही है उन्होंने कहा कि हमने टीकाकाण को दूर-दराज़ के इलाकों तक पहुँचाने का काम किया है, साथ ही इसके तहत हमने 3 करोड़ से ज्यादा बच्चों और 85 लाख से ज्यादा महिलाओं का टीकाकरण कराया है। अनेमिया के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान में अनेमिया प्रतिवर्ष एक फीसदी की दर से घट रहा है।

आंगनबाड़ी की कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा था कि पहले भगवान के हजार बाहु थे। इसका मतलब यह नहीं है कि उनके हाथ निकले हुए थे। उनके पास ऐसे लोग थे जो उनकी तरफ से काम करते थे आप लोग पीएम मोदी के हाथ हैं। उन्होंने कहा कि पहले एक आशा कार्यकर्ता को नवजात के जन्म के 42 दिनों तक मात्र 6 बार बच्चे के घर जाना होता था, लेकिन वर्तमान नियम के मुताबिक अब नवजात की 15 महीने की उम्र तक आशा कार्यकर्ता को उसके हाल-चाल जानना जरुरी है। आपको बता दें कि मोदी सरकार ने राजस्थान के झुंझुनू से पोषण अभियान की शुरुआत की थी।


Share
Bulletin