फिल्मों की सफलता को बॉक्स ऑफिस के नंबरों से परिभाषित नहीं किया जा सकता -अभिनेता अनुपम खेर

फिल्मों की सफलता को बॉक्स ऑफिस के नंबरों से परिभाषित नहीं किया जा सकता -अभिनेता अनुपम खेर

सिनेमा के बदलते व्यापार जहां ऐसी कई सारी फिल्में मौजूद हैं जो थिएटर पर अच्छा व्यवसाय नहीं करती है, हालांकि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर उन्हें जमकर पसंद किया जाता है। यह सवाल जब हाल ही में अनुपम से पूछा तो इस पर उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि पिछले दो सालों में यह सबसे अच्छी चीज हुई है, जो फिल्म निर्माताओं और हम जैसे कलाकारों के लिए बहुत बढ़िया है। दर्शक इंटेलीजेंट कहानियां देखना चाहते हैं और हर फिल्मों की सफलता को बॉक्स ऑफिस के नंबरों से परिभाषित नहीं किया जा सकता। हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर, जो 'वन डे: जस्टिस डिलीवर्ड' में नजर आने वाले हैं, का कहना है कि बॉक्स ऑफिस के नंबरों से परे एक अच्छी कहानी को सेलिब्रेट करने के लिए दर्शकों का पर्याप्त विकास देखने को मिला है।

वन डे: जस्टिस डिलीवर्ड' में एक रिटायर्ड जज की भूमिका में दिखें गे खैर

आगामी फिल्म की बात की जाए तो 'वन डे : जस्टिस डिलीवर्ड' में एक रिटायर्ड जज की भूमिका में नजर आने वाले अभिनेता ने कहा कि, 'चूंकि इन दिनों हमारे पास फिल्मों की डिजिटल रिलीज है, हम जानते ही हैं ऐसी कहानी है जिसे दर्शक लोगों के साथ देखने के बजाय अकेले देखना पसंद करेंगे। अतः अभी दर्शकों के एक समूह का विकास हो रहा है, जो कि ऐसी फिल्में नहीं देखते हैं तो उनकी बुद्धिमता का अपमान वह करती है। साथ ही आपको बता दें कि 'वन डे : जस्टिस डिलीवर्ड' के निर्देशक अशोक नंदा हैं और इस फिल्म में ईशा गुप्ता, कुमुद मिश्रा और अनंत महादेवन नजर आने वाले हैं। आपको यह भी बता दें कि फिल्म निर्माता जोया अख्तर, अनुराग कश्यप, रितेश बत्रा और इनके साथ ही साथ दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर उन  842 कलाकारों और कार्यकारियों में शामिल हैं, जिन्हें अकादमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स और साइंसेज के सदस्यों के रूप में आमंत्रित किया है।


Share
Bulletin