ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल में नर्सों ने की हड़ताल

ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल में नर्सों ने की हड़ताल

ग्वालियर। ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल में संयुक्त मोर्चा स्वास्थ्य कर्मचारी संगठन की ओर से एक दिवसीय हड़ताल की गई है। इस दौरान पैरामेडिकल एवं नर्सेज एसोसिएशन सामूहिक अवकाश लेकर हडताल मे शामिल हुये है। मध्यप्रदेश नर्सेस एसोसिएशन ओर सूबे की सरकार एक बार फिर आमने-समाने आ गयी है। नर्सेस एसोसिएशन ने सरकार को लिखी चिट्टी में साफ कर दिया है,कि वह उनकी मांगों को पूरा करें, नही तो वे सामूहिक इस्तीफा दें देंगी।

नर्सेस एसोसिएशन ने अपनी मांगों को मनवाने के लिए आज सांकेतिक रूप से ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में हड़ताल कर दी है। साथ ही 16 जनवरी से पूरे प्रदेश में सामूहिक हडताल पर जाने की चेतावनी भी सरकार को दी है। दरअसल मप्र की नर्सेस अपनी 7 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रही हैै। ऐसे में नर्सेस में साफ कर दिया है, कि अगर सरकार उनकी मांगों को अब भी नही मानती है, तो वह सामूहिक इस्तीफा देंगी। साथ ही अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली जाएंगी। नर्सेस की मुख्य मांग ये है , कि उन्हें सातवे वेतन मान का लाभ नही दिया जा रहा है। साथ ही उनका 2007 से सीपीएफ भी जमा नही किया जा रहा है एवं स्वाशासी मे पदस्थ कर्मचारियों के 10 वर्ष पूरा होने पर नियमानुसार समयमान वेतनमान का लाभ नहीं दिया जा रहा है।

इन मांगो को लेकर आज ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में नर्सेस हड़ताल पर है। कल इंदौर और परसो जबलपुर में रहेंगी। आपको बता दें कि मप्र में तकरीबन 25 हजार नर्सेस है। जिनमें 500 से ज्यादा नर्से ग्वालियर के सरकारी अस्पतालों मे पदस्थ है। बहरहाल सरकार ओर नर्सेस एसोसिएशन में क्यों मन मुटवा पैदा हो गया है। ऐसे में देखना होगा सरकार नर्सेस कैसे तालमेल बना पाती है।


Share
Bulletin