82 वर्षीय बुजुर्ग को स्वराज एक्सप्रेस की खबर के बाद मिला न्याय

82 वर्षीय बुजुर्ग को स्वराज एक्सप्रेस की खबर के बाद मिला न्याय

भोपाल। बेहद गहमागाहमी और तनावपूर्ण स्थिति में आज सुबह से ठाकुर गौतम सिंह के आमरण अनशन पर शहर में प्लांट मैनेजमेंट की मनमानी को लेकर संयंत्र कर्मियों में चर्चा होती रही। l बीते रात 12 बजे ही गौतम सिंह को ज़बरन जिला अस्पताल मे भर्ती कर दिया था। लेकिन सुबह फिर ठाकुर गौतम सिंह अपने समर्थक सतीश त्रिपाठी और उनके सहयोगियो के साथ आमरण अनशन स्थल पर बैठ गए।

एक बुजुर्ग सेनानी की अनशन में बैठने की चर्चा राजधानी में भी जोरो से थी जिसके बाद राज्यसभा सांसद गोविंद व्यास और सच्चिदानन्द उपासने ने इस्पात मंत्री से देर रात फोन पर बात की। संयंत्र प्रबन्धन की इस लापरवाही से अवगत कराया।

उसके बाद स्वराज एक्सप्रेस ने भी इस खबर को प्रमुखता से दिखाते हुए एक गुरु की दक्षिणा अनशन के रूप में मिली। तत्काल आईजी जी पी सिंह ने अपने अधीनस्थ मातहत को निर्देशित किया , अंततः बीएसपी प्रबंधन के एक जी एम पंडा और एक एजीएम ठाकुर गौतम सिंह को मनाने पहुंचे, प्रशाशन की ओर से शशीमोहन सिंह, सीएसपी सतपथी, थाना प्रभारी कीरो गौतम सिंह को मनाने पहुंचा l लेकिन गुरूजी अपनी जगह से टस से मस नहीं हुए ।

आनन फानन में पुलिस कन्ट्रोल रूम कोतवाली मे बैठक सम्पन्न हुई जिसमें प्रबंधन के अधिकारियों ने स्वीकार किया कि ठाकुर गौतम सिंह का सारा बकाया पैसा सात से दस दिनों के भीतर ठाकुर गौतम सिंह के खाते मे भिजवा दिया जायेगा लेकिन पुलिस प्रशाशन भी ये मदद करे कि यदि ठाकुर गौतम के खिलाफ कोई मामला नहीँ हैं तो उसका प्रमाण देने की मदद करे

उक्त आश्वासन के बाद ठाकुर गौतम सिंह को सभी लोगों की तरफ़ से जूस पिला कर अनशन समाप्त करवाया गया। भिलाई इस्पात संयत्र के गुरूवर, ठाकुर श्री गौतम सिंह के मसले पर जो लोगो ने अपनी भावनाएं प्रदर्शित की, वैसी पूर्व मिसाल शिक्षाधानी ने आज तलक नहीं देखी है।


Share
Bulletin