नहीं सुन रही सरकार दिव्यांगों की

नहीं सुन रही सरकार दिव्यांगों की

भोपाल। प्रदेश की राजधानी भोपाल मे अपनी 23 सूत्री मांगो को लेकर 23 दिन वीत चुके है मगर सरकार ने आज दिन तक उन आश्रितो को कोई मांग पर सरकार ने विचार नही किया है। औऱ ना ही कोई लिखित आश्वासन दिया है। जी हां हम बात कर रहे है, उन दिव्यांगों की जो भोपाल के नीलम पार्क मे अपनी 23 सूत्री मांगों को लेकर लगातार धरना आंदोलन कर रहे है, मगर सरकार के किसी भी मंत्री या अधिकारी ने उन आंदोलन कारियों की एक भी मांग पर लिखित आश्वासन नही दिया है।

तो वही आंदोलनकारी भी अपनी मांगो को लेकर कड़कड़ाती ठंड मे मैदान मे डटे हुये है और अब दिव्यांगो और सरकार के बीच आर पार की लड़ाई करने की बात कह रहे है आंदोलनकारी आंदोलन करनेवाले दिव्यांगो का कहना है की उन्होने सरकार को 10 तारीख तक का अल्टीमेटम दे दिया है की अगर सरकार ने उनकी मांगों को 10 जनवरी तक नही माना तो वह आमरण अनशन करेंगे यानी क्रमिक भूख हड़ताल जिससे सरकार की औऱ भी मुश्किले बड़ सकती है। ऐसा नही है की सरकार की तरफ से किसी मंत्री या अधिकारी ने उन दिव्यांगो से बात नही की हो धरने पर बैठे दिव्यांगों से मिलने मंत्री विश्वास सारंग, सांसद आलोक संजर, औऱ कलेक्टर भी गये मगर उन दिव्यांगो को लिये कोई लिखित आश्वासन नही मिला जिससे वह अपना धरना आंदोलन खत्म नहीं किया है।

और उनका कहना है की जबतक उनको लिखित आश्वासन नही मिलता है वह धरना आंदोलन पर अडे रहेगें।


Share
Bulletin