शिक्षा के नाम पर बच्चों के भविष्य से खिलवाड़

शिक्षा के नाम पर बच्चों के भविष्य से खिलवाड़

डिण्डाैरी। देश में भले ही शिक्षा का अधिकार लागू है, जिसमें बच्चों को अच्छी शिक्षा अच्छे भवन होना अनिवार्य हैै। लेकिन डिंडोरी जिले के समनापुर ब्लाक के प्राथमिक शाला जलेगांव के बच्चों को टेंट के नीचे बैठ कर पढ़ाई करने मजबूर है।

समनापुर के अंतर्गत प्राथमिक शाला जलेगांव के बच्चों को स्कूल भवन न होने से टेंट के नीचे पढ़ाई कर रहे है।, स्कूल कम्पाउंड के पास एक साथ प्राथमिक शाला, मिडिल स्कूल, और हाई स्कूल लगते है। पहले प्राथमिक शाला भी भवन में लगता रहा है, लेकिन कुछ दिन पहले स्कूल भवन को छात्रावास को दे दिया गया, जिसके कारण अब बच्चे टेंट के नीचे बैठने को मजबूर है।

प्राथमिक शाला जलेगांव के हेड मास्टर भी इस समस्या के बारे में अनेको बार ब्लॉक स्तर से लेकर जिला मुख्यालय के अधिकारियो को अवगत कराया गया लेकिन समस्या का हल अभी तक न हो सका ऐसी स्थिति में शिक्षक स्वयं टेंट लगाकर स्कूल लगा रहा है, देखना अब यह होगा कि बच्चों को स्कूल भवन कब मिल पाता है ।

जहां एक ओर सरकार स्मार्ट सिटी बनाने के लिए क्या—क्या नहीं कर रही वहीं दूसरी तरफ इन मासूम बच्चे को पढाई करने के लिए जगह तक नसीब नहीं है। ऐसे में बच्चे सिर्फ सरकार की ओर उम्मीद भरी ​निगाहों से देख रहे है। और सरकार की कोई पहल दिखाई नहीं दे रही हैं


Share
Bulletin