पिछोरः आर्मी फील्ड फायरिंग क्षेत्र से विस्फोटक सामग्री लाना पड़ा महंगा, बम्ब फटने से 3 की मौत

पिछोरः आर्मी फील्ड फायरिंग क्षेत्र से विस्फोटक सामग्री लाना पड़ा महंगा, बम्ब फटने से 3 की मौत

हृदेश पाठक- पिछोर तहसील के ग्राम मसूदा से लगे बबीना सेना की फील्ड फायरिंग रेंज से चांदमारी के बाद बचे बम के हिस्से को घर लाना एक शख्स को भारी पड़ गया। बम से पीतल निकालने के दौरान ऐसा धमाका हुआ कि शख्स को तो जान गंवानी ही पड़ी, पर उसकी बेटी और एक साल के मासूम की बम्म धमाके में मौत हो गई।

पीतल निकालने के लिए घर लाया था सेना का बम, विस्फोटक सामग्री के बदले जिंदा बम्ब उठा लाये थे

घटना पिछोर तहसील के ग्राम मसूदा की है। यहां के श्याम जाटव बकरी चराने के दौरान सेना की फील्ड फायरिंग रेंज में चलाये गए वहां पड़े बम के बचे हिस्से को इस लालच में घर ले आए कि उससे पीतल निकालकर बेच देंगे और परिवार का खर्चा चलेगा। जैसे ही घर में सुवह बम से पीतल निकालना शुरू किया तो उसी वक्त जोरदार धमाका हो गया। जिससे मौके पर ही श्याम, बेटी सुखदेवी और एक साल के मासूम की मौत हो गई। जबकि धमाके में एक व्यक्ति घायल हो गया। घायल को जिला चिकित्सालय शिवपुरी रेफर किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस गांव पहुची और मामले की जांच में जुट गई है। फिलहाल आर्मी व पुलिस कुछ भी कहने व स्टेटमेंट देने को तैयार नहीं है। बताया जा रहा है कि अभी एक बम्ब और है, उसको नस्ट करने के लिये ग्वालियर से बम्ब बिस्फोटक टीम आ रही है।

 

 


Share
Bulletin