​​​​​​​इंदौर में मिले कोरोना वायरस के पांच मरीज, एक ही परिवार के तीन लोग शामिल

​​​​​​​इंदौर में मिले कोरोना वायरस के पांच मरीज, एक ही परिवार के तीन लोग शामिल

इंदौरः­ भारत में कोरोना बढ़ीं तेजी से फैल रहा हैं जिसका असर अब मध्य प्रदेश में भी देखने को मिल रहा हैं। इस वायरस ने अब आर्थिक राजधानी इंदौर में भी कदम रख दिए है। इंदौर में कोरोना वायरस के 5 मरीज मिले हैं, सुबह 4 बजे इसकी पुष्टि हुई है। इनमें से तीन मरीज बॉम्बे अस्पताल, एक अरिहंत अस्पताल में और एक एमवाय अस्पताल में भर्ती है। बॉम्बे अस्पताल में एक ही परिवार के 3 लोग, जो ऋषिकेश से लौटे हैं। इनमें से 4 की फॉरेन हिस्ट्री नहीं है, विभाग पता कर रहा है कि ये किसके संपर्क में आए हैं। इसके पहले मंगलवार को ग्वालियर और शिवपुरी में कोरोना वायरस पॉजिटिव एक-एक मरीज मिले थे। इसके साथ ही जबलपुर के 6 और भोपाल के एक करोनो पॉजिटिव को मिलाकर मध्य प्रदेश में मरीजों की संख्या 14 हो गई है। ग्वालियर और शिवपुरी में कोरोना मरीज मिलने के बाद वहां कर्फ्यू लग गया है, भोपाल और जबलपुर में पहले से ही कर्फ्यू जारी है। 

सभी वार्डों में अस्थायी मंडियों लगाने की अनुमति देगा नगर निगम

पीएम मोदी के एलान के बाद सब्जी बाजारों में भीड़ कम करने के उद्देश्य से नगर निगम सभी वार्डों में अस्थायी मंडियों लगाने की अनुमति देगा। मंगलवार रात 21 दिन के लॉकडाउन के बाद बाजारो में उमड़ी भीड़ के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। निगमायुक्त आशीषसिंह ने इसकी जानकारी देते हुए बताया इससे बड़ी मंडियों में भीड़ कम हो सकेगी। जोनल अधिकारियों को निर्देश दिए जा रहे हैं कि वे वार्डों में सुविधाजनक जगह चुनकर बताएं। इसके अलावा पहले से लग रही मंडियों की दुकानें भी पर्याप्त अंतर रखकर लगवाई जाएंगी और लोगों को दूर-दूर रखने के लिए चूने की लाइन डवलाई जाएगी। 

222 होम क्वारेंटाइन में रखे गए लोगों में से 162 लोग मुक्त, 60 लोग ही होम क्वारेंटाइन में  

कोरोना के कहर के बीच इंदौर जिले के लिए राहत वाली खबर है कि शहर में 222 होम क्वारेंटाइन में रखे गए लोगों में से सिर्फ 14 लोगों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। इनमें से 162 लोगों को मुक्त कर दिया गया है। अब केवल 60 लोग ही होम क्वारेंटाइन में हैं। इन सभी की जांच हो गई है और केवल 46 लोगों के सेंपल अभी तक जांच में लिए गए हैं और इसमें से 32 के सेंपल निगेटिव आ चुके हैं। मिली जानकारी के मुताबिक शहर में करीब तीन हजार लोग विदेश से आए हैं। निगम अधिकारियों को जोन वार इनकी सूची जांच के लिए दे दी गई है, जो मेडिकल अधिकारियों के साथ मौके पर जाकर इनकी जांच कराएंगे और जरूरत होने पर होम क्वारेंटाइन किया जाएगा।


Share
Bulletin