6 दिन पहले कोचिंग जाते समय अगवा हुए 10वीं के छात्र की हत्या, नहर में मिला शव

6 दिन पहले कोचिंग जाते समय अगवा हुए 10वीं के छात्र की हत्या, नहर में मिला शव

सुनील वर्मा - दअरसल गोवर्धन कॉलोनी 5 जनवरी 2019 की सुबह जयपाल जादौन के बेटे सत्यम (15) का शव छह दिन बाद मुरैना जिले के जौरा की नहर में मिल गया है सत्यम जिंदा नहीं है खुलासा हत्यारे विवेक जादौन ने बुधवार रात को ही गोला का मंदिर पुलिस से किया था इंट्रोगेशन में हत्यारे ने बताया कि सत्यम को मारने में उसके साथ भांजा सुमित भी शामिल था सत्यम को इसलिए मारा क्योंकि वह उसके चरित्र के बारे में राज जान चुका था। उनका खुलासा करने पर वह बदनाम हो सकता था। इसलिए प्लानिंग से उसे अगवा कर हत्या कर दी थी।

लात मार कर नहर में फेंका सत्यम को

बता दें की रिश्ते के मौसा जयपाल जादौन इंदौर में नौकरी करते हैं। यहां उनकी पत्नी नीतू बेटे शिवम और सत्यम के साथ अकेली रहती है परिवार की देखभाल के बहाने विवेक अक्सर आता जाता रहता था 4 जनवरी की रात को भांजे सुमित के साथ सत्यम के घर आया और सुबह मुरैना लौटते वक्त उसे दीनदयाल नगर में कोचिंग छोडऩे के बहाने अपनी कार से दोनों साथ ले गए लेकिन यहा सत्यम को कार से नहीं उतारा उसे घुमाने के बहाने मुरैना होते हुए जौरा, सबलगढ़ ले जाकर नहर किनारे कार रोकी। सत्यम को भी नीचे उतार कर नहर के पास खड़ा किया, फिर विवेक ने उसे लात मारकर नहर में फेंक दिया।

दो आरोपी गिरफ्तार

सत्यम तैरना नहीं जानता था तो गहरी नहर में बहता चला गया हत्या के बाद दोनों हत्यारे उसका बैग और मोबाइल लेकर चले गए गुरुवार को पुलिस ने उनकी निशानदेही पर जौरा की नहर से सत्यम का शव और हत्यारों के घर से उसका बैग और मोबाइल बरामद कर लिया है पुलिस का कहना है कि हत्या आरोपी विवेक जादौन अपराधी है इससे पहले भी मुरैना में कई संगीन वारदातें कर चुका है। उसकी बात पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर सकते इसलिए तस्दीक की जा रही है फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

 


Share
Bulletin