भोपालः लोकसभा चुनाव हारने के बाद पहली बार मीडिया सामने आए दिग्विजय

भोपालः लोकसभा चुनाव हारने के बाद पहली बार मीडिया सामने आए दिग्विजय

प्रमोद शर्मा- लोकसभा चुनाव हारने के बाद पहली बार मीडिया सामने आए दिग्विजय ने मोदी समेत भाजपा के सभी जीते प्रत्यासियों को बधाई दी। साथ ही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की जीत को लेकर कहा कि गांधी जी के हत्यारे की विचारधारा जीत गयी और गांधी जी की विचारधारा हार गई। दिग्विजय ने कहा कि जो भोपाल की जनता से वायदे किये है, उन्हें पूरा कराने का प्रयास करूंगा। मुझे कमलनाथ ने अश्वासन भी दिया है।

जो नारा देते हैं, वही पूरा कर देते हैं

अपने संबोधन में बोलते हुये दिग्विजय ने भाजपा की जीत पर कहा कि मुझे आश्चर्य है कि  पहले 200 पार कहा, इस बार 300 पार। ऐसी कौन सी छड़ी है इनके पास। मुझे आश्चर्य है

जो नारा देते हैं, वही पूरा कर देते हैं। वोट डालने से पहले नारा दे देते हैं। ऐसी कौन सी भाजपा के पास जादू की छड़ी है जो इन्हें रिजल्ट आने के पहले ही पता चल जाता है। दिग्विजय ने साफ कहा कि इस चुनाव में महात्मा गांधी की हत्या करने वालों के विचार जीते हैं। कांग्रेस कमजोर नहीं है और ज्यादा कांग्रेस में काम करने की जरूरत है।

भाजपा ने इस चुनाव में पूरा एजेंडा राष्ट्रवाद पर केंद्रित कर दिया

मोदी के इन पांच सालों में सेना के जवान शहीद हुए हैं, इतने कभी नहीं हुए। नतीजों के पहले कोई नहीं कह रहा था कि राहुल, सिंधिया हारेंगे। मेरा भी अच्छा चुनाव चला पर सवाल यही उठता है कि चूक कहां हुई। मोदी ने 2014 में जो वायदे किये थे, उनकी इस चुनाव में बात की नहीं की। न काले धन की, न रोजगार की। इस चुनाव में पूरा एजेंडा राष्ट्रवाद पर केंद्रित कर दिया। लोगों को लगा यह वोट मोदी के लिए, नहीं देश के लिए है। कमलनाथ की सरकार गिराने पर बोले भाजपा को नहीं पच पा रहा है कांग्रेस की सरकार आ गयी है। इसलिए हमारे विधायकों को करोड़ों का प्रलोभन दे रहे हैं, पर अभी तक सभी हमारे साथ हैं।

मुझे सभी धर्मो के महात्माओं का आशीर्वाद प्राप्त है

कहां कमी रह गयी के सवाल पर बोले दिग्गी, मेरे चुनाव में कहीं कोई कमी नहीं रही। नेताओं, कार्यकर्ताओं ने दम से काम दिया। इससे ज्यादा मेहनत हम कर भी नहीं सकते। मुझे सभी धर्मो के महात्माओं का आशीर्वाद प्राप्त है। राज्य सरकार कह रही है, 83 वचन पूरे किए, पर चुनाव में फायदा नहीं मिला। दिग्गी बोले, यह चुनाव पूरी तरह से देश की सुरक्षा के नाम पर भाजपा लड़ी, बाकी सभी वायदे गौण हो गए। गांधी की विचार धारा की लड़ाई हमारी चलेगी।


Share
Bulletin