भोपाल : चिरायु अस्पताल प्रबंधन की अमानवीयता, 8 माह की गर्भवती महिला समेत 33 लोगों को बारिश के बीच अस्पताल से निकाला

भोपाल : चिरायु अस्पताल प्रबंधन की अमानवीयता, 8 माह की गर्भवती महिला समेत 33 लोगों को बारिश के बीच अस्पताल से निकाला

विवेक शर्मा : राजधानी भोपाल में कोरोना महामारी के दौरान डॉक्टर सहित कई योद्धा रात-दिन प्रयास में जुटे हैं कि जल्द से जल्द इस महामारी से निजात मिल सके, लेकिन इस महामारी के दौर में भोपाल के कोविड सेंटर में अस्पताल प्रबंधन का अमानवीय रवैया सामने आया है। बता दें कि, भोपाल के कोविड सेंटर चिरायु अस्पताल प्रबंधन पर बारिश के दौरान 33 लोगों को झूठ बोलकर अस्पताल से बाहर निकालने के आरोप लगे हैं।

14 दिन के लिये हुये थे क्वारंटाइन, 6 दिन में की छुट्टी
दरअसल, शुक्रवार सुबह चिरायु में क्वारंटाइन किये गये 33 लोगों को डयूटी डॉक्टर ने बताया कि आज आपकी छुट्टी की जा रही है। जब भर्ती लोगों ने डॉक्टर से पूछा कि हमें तो 14 दिन के लिये क्वारंटाइन किया गया था अभी तो 6 दिन हुये हैं। जिस पर डॉक्टर ने बताया कि आप लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव है इसलिये आपकी छुट्टी कर रहे हैं।

लोगों को सामान समेत अस्पताल से बाहर निकाला
डॉक्टरों ने छुट्टी का हवाला देते हुये दोपहर 4 बजे इन्हें अस्पताल से इनके सामान सहित बाहर निकाल दिया। जब लोगों ने घर जाने का कहा तो उनसे प्रबंधन ने कहा कि अभी घर नहीं जा सकते बस आ रही है जिससे आपको सर्टिफिकेट दिलाने ले जायेंगे। प्रबंधन का रवैया देख लोगों ने आपत्ति जताई और हंगामा किया। बाद में इन्हें बस से किसी अन्य स्थान पर स्थानांतरित कर दिया गया।


 


Share
Bulletin