एक गलती से बर्बाद हो गया इस युवा क्रिकेटर का करियर

एक गलती से बर्बाद हो गया इस युवा क्रिकेटर का करियर

क्रिकेट से जुड़े लोग इस बात से बहुत शर्मिंदा होते हैं की ऑस्ट्रेलिया में जन्में एक युवा क्रिकेटर एलेक्स हेपबर्न को पिछले साल एक रेप के आरोप में सजा सुनाई गयी थी। जिसको लेकर अब एक साल के बाद नई रिपोर्ट्स सामने आ रही है। ऑस्ट्रेलिया में जन्में एलेक्स हेपबर्न ने अब अपनी सज़ा के खिलाफ अपील दायर की है।

ऑस्ट्रेलिया के जन्में एलेक्स हेपबर्न को रेप के केस में हुई थी जेल
साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया में जन्में एलेक्स हेपबर्न इंग्लैंड चले गये। जिसका कारण था वो वहां पर खेलना चाहते थे। एलेक्स हेपबर्न काउंटी क्रिकेट में वूस्टरशायर टीम के लिए खेलते हुए नजर आते थे। 2017 में उनके खिलाफ एक महिला ने रेप का आरोप लगाया। जिसमें महिला ने बताया की वो हेपबर्न अपने साथी खिलाड़ी के रूम में घुसकर के मेरे साथ रेप किया था। उसी केस में पिछले साल कोर्ट ने ऑस्ट्रेलिया में जन्में एलेक्स हेपबर्न को 5 साल की सजा सुनाई थी। द वेस्ट ऑस्ट्रलियन में छपे एक रिपोर्ट के अनुसार अब एलेक्स हेपबर्न ने खुद को मिली सजा का खिलाफ एक अपील की है। जिसकी सुनवाई आज लॉर्ड चीफ जस्टिस लॉर्ड बर्नेट द्वारा की जाएगी। हालांकि इसको लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं आया है की अपील को लेकर क्या कहा गया है।
 
कुछ ऐसा रहा था एलेक्स हेपबर्न के खिलाफ मामला
उस महिला ने जूरी के सामने बताया की इंग्लैंड के खिलाड़ी जो क्लार्क से वो एक पब में मिली थी। उनकी दोस्ती हुई और वो कुछ समय के बाद उनके कमरे में थी। कुछ समय के बाद वहां पर अँधेरा था। उन्होंने बताया की अधेरें के कारण उन्हें लगा की वो जो क्लार्क के साथ सो रही है लेकिन उस समय रूम में एलेक्स हेपबर्न थे। उन्होंने बताया की ऑस्ट्रलिया की भाषा का इस्तेमाल और जिस तरह से उन्होंने उनके बाल छुए। उससे पता चल गया था की वो हेपबर्न है। वो उनकी तारीफ कर रहे थे और शारीरिक सम्बंध बनाने के लिए मना रहे थे। जब वो इसपर राजी नहीं हुई तो एलेक्स हेपबर्न ने उनका रेप कर दिया।

खत्म हो गया ऑस्ट्रेलिया में जन्में हेपबर्न का क्रिकेट करियर
महिला के द्वारा लगाये गये सभी आरोप को सही नहीं माना गया लेकिन रेप की बात साबित हुई। जिसके कारण ही उन्हें 5 साल की सजा हुई है। अब अपील पर क्या फैसला होगा ये देखने वाला होगा। काउंटी क्रिकेट में भी उनके करियर पर बड़ा फर्क पड़ा। अब उनपर जीवन पर बड़े स्तर की क्रिकेट खेलने से बैन लगा हुआ है।


Share
Bulletin