दुष्कर्म का शिकार होते होते बची मासूम, कई घण्टो बाद लिखी गयी रिपोर्ट

दुष्कर्म का शिकार होते होते बची मासूम, कई घण्टो बाद लिखी गयी रिपोर्ट

हवस का दरिंदा अपने मंसूबो में कामयाब होता उससे पहले परिवार की सतर्कता ने एक मासूम की मासूमियत बचा ली। खबर सागर जिले के जैसीनगर थाने के गांव से हैं जहां स्कूल से लौटकर आई मासूम स्कूल बैग कंधे पर टांगे आंगन में खेलने लगी। तभी हवस का वहसी शैतान चेन सिंह लोधी जिस पर चोरी और छेड़खनी के दर्जनों मामले दर्ज हैं वह खेलती हुई बच्ची को उठाकर अपनी जंगल में बनी कुटिया में ले गया। 

परिजनों की सतर्कता से उन्होंने आरोपी का पीछा किया और उसकी कुटिया तक पहुंच गए, आरोपी मासूम के परिजनों को देख भाग खड़ा हुआ लेकिन हद तो तब हो गई जब परिजन बारह बजे से थाने में बैठे है और उनकी न तो रिपोर्ट लिखी गई और न ही कोई सुनवाई हुई। घण्टो बैठने के बाद रात में मामला दर्ज हुआ। परिजन आठ नौ घण्टे से थाने में बैठे रहे लेकिन वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के आने के बाद ही रिपोर्ट लिखी गयी। परिजनों का कहना था कि जब थाना प्रभारी आएंगे तब उनकी रिपोर्ट लिखी जाएगी। 

Sdop पुलिस जसीनगर का कहना है कि पास्को एक्ट और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है थाने में रिपोर्ट लेट क्यो लिखी गयी इसकी जांच कराई जाएगी। अब सवाल फिर वही है जब प्रदेश में ऐसी घटनाएं आये दिन सामने आ रही है ऐसे में पुलिस का यही लापरवाही रूपी रवैया रहा तो यकीनन आरोपियों के हौसले तो बुलन्द होंगे ही।


Share
Bulletin