राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भय्यूजी महाराज ने की आत्महत्या

राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भय्यूजी महाराज ने की आत्महत्या

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या का प्रयास किया है। बताया जा रहा है कि गंभीर रूप से जख्मी भैय्यूजी महाराज को इंदौर के बाॅम्बे अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गयी है। 

ध्यान देने वाली बात यह है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने हाल ही में भय्यूजी महाराज को राज्यमंत्री का दर्जा दिया था। भय्यूजी का असली नाम उदय सिंह शेखावत है। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में लोग उन्हें भय्यूजी महाराज के नाम से जानते हैं। मध्य प्रदेश में उनके हजारों की संख्या में समर्थक हैं। भय्यूजी गृहस्थ जीवन में रहते हुए भी संत हैं। इसी वजह से उन्हें मॉर्डन संत भी कहा जाता है इन्हें प्रवचन के लिए जाना जाता है।

बता दें , 49 साल कि उम्र में संत भय्यू महाराज ने अप्रैल 2017 में दूसरी शादी की थी ग्वालियर की डॉ. आयुषी के साथ उन्होंने फेरे लिए थे भय्यू महाराज की पहली पत्नी माधवी का डेढ़ साल पहले निधन हो गया था पहली शादी से उनकी एक बेटी कुहू है, जो पुणे में रहकर पढ़ाई कर रही है भय्यू महाराज कुछ समय पूर्व सार्वजनिक जीवन से संन्यास की घोषणा कर चुके थे।

भय्यू महाराज का वर्चस्व काफी ज्यादा था कई बॉलीवुड सेलिब्रिटी उनके क्लोज थे वहीं राजनीति में भी इनकी काफी पकड़ थी अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है कि इन्होंने खुद को गोली क्यों मारी है लेकिन उनकी मौत की खबर से देश भर में सनसनी फ़ैल गई है।


Share
Bulletin