खाद्य विभाग की टीम पहुंची जोधपुर मिष्ठान भंडार, जो पानी शौचालय में कर रहे उपयोग उसी से बन रहीं मिठाईयां

खाद्य विभाग की टीम पहुंची जोधपुर मिष्ठान भंडार, जो पानी शौचालय में कर रहे उपयोग उसी से बन रहीं मिठाईयां

विनोद शर्मा : मावा दूध और तेल पर हो रही कार्रवाई के बाद प्रशासन ने अब मिठाई की दुकानों की तरफ रुख किया है। सोमवार की देर शाम जब खाद्य विभाग की टीम जोधपुर मिष्ठान भंडार पहुंची तो सभी अधिकारी दंग रह गए। वहां टीम को शौचालय के बगल से ही मिठाईयां बनती मिली। वहीं मिठाई बनाने के लिए उपयोग में आने वाला पानी भी शौचालय में लगे नल से लिया जा रहा था। इसको लेकर खाद सुरक्षा विभाग की अधिकारी पुष्पा पुषाम ने खासी नाराजगी जाहिर की है।

दुकान संचालक को भेजा नोटिस
वहीं कलेक्टर ने बताया कि मिठाई की दुकान से सैंपल लिए गए हैं जिस तरीके से वहां गंदगी मिली है उसके बाद दुकान संचालक को नोटिस भेजा गया है। वहीं 8 जुलाई के बाद पिछले 34 दिन में मिलावट के संदेह में कुल 134 नमूने लिए गए हैं जिनमें से 21 नमूनों की रिपोर्ट आई है अब तक जो रिपोर्ट आई हैं उनमें 16 नमूनों की रिपोर्ट अमानक पाई गई है। 

सबसे अधिक सैंपल मावे के 
सबसे अधिक अमानक 14 सैंपल मावे के पाए गए हैं। अब तक जो सैंपल अमानक पाए गए हैं उन पर जिला प्रशासन के द्वारा किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। इस बारे में जब कलेक्टर ग्वालियर से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जिन फर्मों के नमूने अमानक पाए गए हैं ऐसे केसों को एडीएम कोर्ट में सुनवाई के लिए रखा जाएगा साथ ही उनको नोटिस जारी किए जाएंगे।

 


 


Share
Bulletin