'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' रिव्यू : फिल्म की ख़राब कहानी से अनुपम खेर की एक्टिंग पर फिरा पानी

'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' रिव्यू : फिल्म की ख़राब कहानी से अनुपम खेर की एक्टिंग पर फिरा पानी

अनुपम खेर स्टारर फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर रिलीज हो चुकी है पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू के इसी नाम पर बनी फिल्म हाल ही रिलीज हुई है ये फिल्म को दर्शक कितना पसदं कर रहे हैं आइये जानते हैं।

फिल्म : द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर

कलाकार : अनुपम खेर, अक्षय खन्ना, सुजैन बर्नर्ट, अर्जुन माथुर, आहना कुमरा

निर्देशक : विजय रत्नाकर गुट्टे

मूवी टाइप : ड्रामा, बायोग्राफी

अवधि : 1 घंटा 52 मिनट

रेट : 2.5 / 5

कहानी

फिल्म की कहानी संजय बारू के नजरिए से है जो 2004 में लोकसभा में यूपीए के विजयी होने के साथ शुरू होती है जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी यानि सुजैन बर्नेट स्वयं पीएम बनने का लोभ त्यागकर डॉक्टर मनमोहन सिंह को पीएम पद के लिए चुनती हैं उसके बाद कहानी में राहुल गांधी (अर्जुन माथुर), प्रियंका गांधी (आहना कुमरा) जैसे कई किरदार आते हैं किरदारों की एक्टिंग बहुत ही जबरदस्त देखने को मिल रही है। संजय बारू (अक्षय खन्ना) जो पीएम का मीडिया सलाहकार है लगातार पीएम की इमेज को मजबूत बनाता जाता है उसने एक बात पहले ही स्पष्ट कर दी है कि वह हाईकमान सोनिया गांधी को नहीं बल्कि पीएम को ही रिपोर्ट करेगा।

पीएमओ में उसकी चलती भी खूब है

मगर उसके विरोधियों की कमी नहीं है बारू पीएम को ट्रांसफॉर्म करता है उनके भाषण लिखता है फिर पीएम का मीडिया के सामने आत्मविश्वास से लबरेज होकर आना, बुश के साथ न्यूक्लियर डील की बातचीत इस सौदे पर लेफ्ट का सरकार से सपॉर्ट खींचना, पीएम को कटघरे में खड़े किए जाना पीएम के फैसलों पर हाईकमान का लगातार प्रभाव, पीएम और हाईकमान का टकराव विरोधियों का सामना जैसे कई दृश्यों के बाद कहानी उस मोड़ तक पहुंचती है जहां न्यूक्लियर मुद्दे पर पीएम इस्तीफा देने पर आमादा हो जाते हैं पर हाईकमान उनको इस्तीफा देने से रोक लेती है।

एक्टिंग

एक्टिंग की बात करें तो पूर्व पीएम की भूमिका में अनुपम खेर शुरुआत में वॉइस मॉड्यूलूशन और दोनों हाथ आगे झुकाकर चलने के अंदाज से अटपटे लगते हैं लेकिन आप देख ही सकते हैं उन्होंने बहुत ही दमदार किरदार निभाया है आपने देखा ही है वो हूबहू मनमोहन सिंह की तरह दिखाई दे रहे हैं उन्होंने किरदार की गंभीरता को बनाए रखा है किताब के तथ्यों के मुताबिक उन्होंने पीएम की बेचारगी, बेबसी और डार्क ह्यूमर को बखूबी निभाया है बारू के किरदार में अक्षय खन्ना फिल्म के हाई लाइट साबित हुए हैं। वहीं जर्मन ऐक्ट्रेस सुजैन बर्नर्ट ने सोनिया गांधी के लुक को अच्छी तरह अपनाया है मगर किरदार में उनका नेगेटिव स्ट्रीक ज्यादा स्ट्रॉन्ग है प्रियंका के रूप में आहना का लुक जबरदस्त है, मगर उन्हें ज्यादा स्क्रीन स्पेस नहीं मिला है।


Share
Bulletin