मतदान की अपील करने गए तहसीलदार को 600 ग्रामीणों ने घेर कर पीटा, जमकर की तोड़-फोड़

मतदान की अपील करने गए तहसीलदार को 600 ग्रामीणों ने घेर कर पीटा, जमकर की तोड़-फोड़

वरुण शर्मा - चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र के मतदान केन्द्र क्रमांक 138, बाल्हा में सडक़ को लेकर चुनाव का बहिष्कार कर रहे ग्रामीणों ने समझाइश देने पहुंचे तहसीलदार मनीष पांडेय और सचिव उम्मीद कुमार द्विवेदी के साथ मारपीट की जिसके बाद जान बचाने के लिए तहसीलदार ने अपने आप को मतदान केंद्र के भीतर कैद कर लिया गांव वालों ने गाड़ी में भी तोडफ़ोड़ कर दी काफी देर बाद जब पुलिस बल पहुंचा तो बाहर निकले। दरअसल  बाल्हा के लोगों ने गांव से कुलकडिय़ा तक जाने वाली दो किलोमीटर लंबी सडक़ के निर्माण में सचिव उम्मीद कुमार द्विवेदी द्वारा गुणवत्ता का ध्यान नहीं देने का आरोप लगाते हुए पुनर्निर्माण कराने के लिए आवाज उठाई थी।

तहसीलदार ने खुद को बचाने के लिए कमरे में किया बंद

ग्रामीण की दूसरी मांग बाल्हा को नयागांव पंचायत से अलग कर राजस्व ग्राम घोषित करने की थी  इन मांगों के समर्थन में मतदान का बहिष्कार कर दिया और वोट डालने आए बुंदेलापुरवा के मतदाताओं को डरा-धमका कर भगा दिया गया तब किसी ने बिरसिंहपुर तहसीलदार मनीष पांडेय को सूचित कर दिया तो वह दोपहर करीब 3 बजे  सचिव के साथ मौके पर पहुंचकर समझाइश देने लगे पर ग्रामीण उनकी बात सुनने को तैयार नहीं हुए और गरमा गरम बहस हो गई। इस बीच कुछ लोगों ने तहसीलदार, सचिव से मारपीट कर गाड़ी में पत्थर से तोड़-फोड़ शुरु कर दी जिसके कारण उन्होंने मतदान केन्द्र में घुसकर अंदर से दरबाजा बंद कर लिया।

1055 मतदाताओं में से 70 लोगों ने डाला वोट

इस बात की सूचना वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने कंट्रोल रुम और एसपी संतोष सिंह गौर को दी जिन्होंने थाना क्षेत्र में भ्रमण कर रहे टीआई विनय यादव को मौके पर भेजा साथ ही चित्रकूट एसडीओपी पीएल मेहरा मझगवां टीआई केपीएस टेकाम, धारकुंडी थाना प्रभारी राजेन्द्र तिवारी को दल बल के साथ रवाना कर दिया। पुलिस की तीन मोबाइल पेट्रोल पार्टियां और डायल 100 भी बाल्हा पहुंच गई भारी पुलिस बल को देखकर बवाल कर रहे ग्रामीण पीछे हट गए तब जाकर कमरे में छिपे तहसीलदार व मतदान दल को बाहर निकाल कर ईवीएम समेत थाने लाया गया इनके अलावा सचिव को बुलाकर मतदान में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कार्यवाही शुरु कर दी गई इधर, बाल्हा और बुंदेलापुरवा में कुल 1055 वैध मतदाता हैं, लेकिन बवाल के चलते 70 वोट ही डाले जा सकें। 

 


Share
Bulletin