विदिशाः कड़ी सुरक्षा के बीच ईवीएम की हो रही पहरेदारी, सुरक्षा में पुलिस के साथ जवानों की भी ड्यूटी

विदिशाः कड़ी सुरक्षा के बीच ईवीएम की हो रही पहरेदारी, सुरक्षा में पुलिस के साथ जवानों की भी ड्यूटी

दीपेश शाह- 2019 का लोकसभा चुनाव अपने आखिरी चरण पर है। इससे पहले जिन-जिन स्थानों में मतदान प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है, वहां-वहां की ईवीएम मशीन को पूरी तरह से सुरक्षित स्थान तक पहुंचा कर सीलबंद कर दिया गया है। विदिशा के सम्राट अशोक टेक्नोलॉजिकल इंस्टिट्यूट यानी एसएटीआई कॉलेज में कड़ी सुरक्षा के बीच ईवीएम की पहरेदारी हो रही है। सुरक्षा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, डिस्ट्रिक्ट पुलिस, सीएपीएफ के जवान, एसएएफ के जवान लगे हुये हैं। सुरक्षा इतनी कि यहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता। कलेक्टर विदिशा व पुलिस अधीक्षक ने ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जानकारी दी।

प्रत्याशियों का भाग्य और एसएटीआई कॉलेज में बने स्ट्रांग रूम में

विदिशा जिला मुख्यालय पर 1321 ईवीएम में बंद हो चुका है। प्रत्याशियों का भाग्य और एसएटीआई कॉलेज में बने स्ट्रांग रूम में भारी सुरक्षा के बीच ईवीएम को रखा गया है। तीन प्रकार की लेअर सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है। जिसकी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, डिस्ट्रिक्ट पुलिस, सीएपीएफ के जवान, एसएएफ के जवान सुरक्षा कर रहे हैं। जिला मुख्यालय के स्ट्रांग रूम में 2 लोकसभा क्षेत्र की ईवीएम को रखा गया है, जिसमें विदिशा लोकसभा क्षेत्र की विदिशा तथा गंजबासौदा विधानसभा की ईवीएम यहां रखी गई है। सागर लोकसभा क्षेत्र की शमशाबाद सिरोंज और कुरवाई विधानसभा की ईवीएम रखी हुई है। 18 राउंड में सबसे पहले सिरोंज विधानसभा तथा 21 राउंड के आखिरी में कुरवाई विधानसभा का परिणाम घोषित किया जाएगा। मतगणना 23 मई को सुबह 8 बजे से शुरू होगी।

सीसीटीवी कैमरे द्वारा भी की जा रही मॉनिटरिंग

कौशलेंद्र विक्रमसिंह कलेक्टर जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि ईवीएम सभी स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रख दी गई हैं और उसमें तीन प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था रखी गई है। सबसे पहले सीएपीएफ के जो जवान हैं, वह सुरक्षा कर रहे हैं। उसके बाद एसएएफ उसके बाद डिस्ट्रिक्ट फोर्स जिले की वह सुरक्षा कर रही है। सभी को सीसीटीवी कैमरे से कवर किया गया है और एक कमरे में टीवी लगा कर उसके लिए अलग से सिक्योरिटी लगा कर मॉनिटरिंग की जा रही है। जो राजनीतिक लोग हैं और जो कैंडिडेट हैं, उनसे भी कहा गया था कि वहां एक टेंट लगा हुआ है। वहां आकर अगर वह बैठना चाहे तो बैठ सकते हैं। रुक सकते हैं और उसकी निगरानी कर सकते हैं। इस तरीके से हमने पूरी सुरक्षा व्यवस्था का प्रबंध किया हुआ है।

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश से तीन लेयर की सुरक्षा

वहीं विनायक वर्मा, SP विदिशा ने कहा कि मतगणना समाप्त होने के बाद ईवीएम को स्ट्रांग रूम में जमा किया है। इसकी सुरक्षा करना हमारे लिए अति आवश्यक है और जब तक मत करना दिवस नहीं आ जाता, तब तक उसकी जिम्मेदारी सुरक्षा की हमारे ऊपर है। हमने तीन प्रकार की सुरक्षा रखी है जो भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश से है। सबसे पहले सीआरपीएफ जिसका प्लाटून 24 घंटे निगरानी कर रहा है और रजिस्टर मेंटेन करते हैं। बहुत ही स्पेशल कंडीशन में ही कोई डाउट हो, तभी यह रूम खोला जाएगा कलेक्टर और मेरी निगरानी में। हमें भरोसा है कि उसको किसी प्रकार खोलने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। सेकंड लेयर में स्टेट आर्म्ड पुलिस का और तीसरी लेयर में जिला पुलिस बल को लगाया गया है। इनकी ड्यूटी आठ 8 घंटे के हिसाब से 24 घंटे चलेगी।


Share
Bulletin