NSUI को वोट न देना, दो छात्राओं को पड़ा भारी  

NSUI को वोट न देना, दो छात्राओं को पड़ा भारी  

अनूपपुर : कांग्रेस विधायक फुन्देलाल सिंह मार्को ने देर रात उनके घर पर किराए से रह रही छात्राओं को निकाल दिया। पुष्पराजगढ़ महाविद्यालय में हुए छात्र संघ चुनाव में एनएसयूआई की करारी हार से बौखलाए कांग्रेस विधायक फुन्देलाल सिंह मार्को और विधायक के बेटे ने समर्थकों के साथ देर रात दो छात्राओं को अपने किराए के मकान से बाहर कर दिया।

दोनों छात्राएं देर रात डरी सहमी बोझ रखकर सड़कों पर भटकती रही। देर रात स्थानीय पत्रकार और स्थानीय लोगों के द्वारा लड़कियों को  सुरक्षित मकान में आसरा दिलाया गया।

छात्राएं विधायक के मकान पर किराए से रहती थी और इन छात्राओं को एनएसयूआई के पक्ष में वोट करने के लिए विधायक और उनके बेटे द्वारा कहा गया था, लेकिन विधायक और उनके बेटे को छात्राओं पर शक है कि इन छात्राओं ने उनकी बात नहीं मानी और एबीवीपी को अपना वोट दे दीं हैं।

अनूपपुर में एनएसयूआई पांचों महाविधालय में हार गई और एबीवीपी जिले के सभी महाविधालय में जीत गई। हार से बौखलाएं कांग्रेस विधायक मार्को और उनके बेटे ने अपने रुतबे और दबदबे को कहीं और नहीं दिखा पाए, तो उन्होंने 'आव देखा न ताव' बस उनके मकान पर किराए से रहने वाली दोनों छात्राओं पर पूरा गुस्सा उतार दिया।

दोनों छात्राओं को कांग्रेस विधायक मार्को ने समर्थकों के साथ मिलकर अपमानित करते हुए देर रात घर से बाहर निकाल दिया। दोनों छात्राएं देर रात घर से बाहर न निकालने को लेकर कांग्रेस विधायक से मिन्नतें करती रही, लेकिन गुस्से से तमतमाएं विधायक को छात्राओं की सुरक्षा को लेकर जरा भी तरस नहीं आई और दोनों छात्राओं को देर रात भटकने को विवश कर दिया।

दोनों लड़कियां असुरक्षित देर रात सड़क पर भटकती रहीं, लेकिन पुष्पराजगढ़ विधायक के दबदबे के आगे राजेन्द्रग्राम पुलिस  ने भी देर रात भटक रहीं छात्राओं की सुरक्षा के लिए सुरक्षित व्यवस्था करने की कोई जहमत नहीं उठाई।

पत्रकारों के साथ स्थानीय लोगों ने दोनों लड़कियों को रात गुजारने के लिए सुरक्षित आसरा दिलवाया। विधायक और उनके बेटे सहित उनके समर्थकों  के इस करतूत से दोनों छात्राएं डरी सहमी हुई हैं और पढ़ाई छोड़ कर अपने माता-पिता के पास घर जाना चाहती हैं।

 


Share
Bulletin