पलारी तिगड्डा-कहानी मार्ग निर्माण में भारी अनियमितता, 100 करोड़ की लागत से बनी थी सड़क, 3 साल में हुई जर्जर

पलारी तिगड्डा-कहानी मार्ग निर्माण में भारी अनियमितता, 100 करोड़ की लागत से बनी थी सड़क, 3 साल में हुई जर्जर

आदिल खान : केवलारी (सिवनी) में भाजपा शासनकाल में पलारी तिगड्डा से कहानी तक सीसी रोड निर्माण कार्य 100 करोड़ की लागत से स्वीकृत हुआ था जिसमें कई पुल और पुलिया निर्माण भी होना था। जिसका शिलान्यास तत्कालीन प्रभारी मंत्री शरद जैन और क्षेत्रीय सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने सितंबर 2016 में किया था। 41 किलोमीटर लंबी सी.सी. सड़क का ठेका सड़क निर्माण हेतु हिलवेज कंपनी तथा सेतू निर्माण हेतु नक्षत्र कंस्ट्रक्शन नागपुर को लोक निर्माण विभाग द्वारा दिया गया था। इन कंस्ट्रक्शन कंपनियों के द्वारा सड़क निर्माण में भारी अनियमितता की गयी है। 

कई जगहों पर कंक्रीटीकरण अधूरा
सड़क में लगभग कंक्रीटीकरण पूर्ण हो चुका है किंतु कई जगह कंक्रीटीकरण अधूरा है जो हादसों का कारण बन रहा है। 5 करोड़ की लागत से बनने वाला इस मार्ग का सबसे महत्वपूर्ण ब्रिज जो वैनगंगा नदी पर पलारी मझगमा के समीप है अभी तक अधूरा है। कंस्ट्रक्शन कंपनी को जून 2019 तक इस पुल को निर्मित करना था। एक्सटेंशन के बाद भी कंस्ट्रक्शन कंपनी इस कार्य को कंप्लीट नहीं कर पाई जिस कारण पुराना पुल भारी दबाव के चलते बिल्कुल जर्जर हो गया।

चार पहिया वाहन का आवागमन बंद
आलम यह है कि इस पुल से चार पहिया वाहन का आवागमन बिल्कुल बंद कर दिया गया है। जिससे क्षेत्रवासियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अब विभाग पुराने जर्जर पुल की मरम्मत करा रहा है ताकि  आवागमन चालू हो सके। आगामी बरसात तक नया पुल निर्माण कंप्लीट होने की संभावनाएं नहीं है ऐसे में भविष्य में भारी दिक्कतों का सामना क्षेत्रवासियों को करना पड़ सकता है क्योंकि बारिश अधिक होने पर पुराना पुल बैन गंगा नदी में डूब जाता है। इस अनियमितता पर विभागीय अधिकारी कंस्ट्रक्शन कंपनी और ठेकेदार पर कार्रवाई की बात कर रहे हैं तो वही सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता एक दूसरे पर आरोप लगाते दिखाई दे रहे हैं।                           


Share
Bulletin