पत्रकार के घर हुआ हमला, पथराव कर जमकर की तोड़-फोड़, विधायक ने भेजे गुडें

पत्रकार के घर हुआ हमला, पथराव कर जमकर की तोड़-फोड़, विधायक ने भेजे गुडें

अनिल बैरागी - मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव मे भाजपा की हार महिदपुर विधायक बहादुरसिह चोहान को ईतनी अखर गई की आपा खो बेठे और लोक तंत्र के चोथे स्थम्भ के प्रहरी पत्रकार मांगालाल कुमावत के घर तकरिबन देर रात दर्जनो हमलावर भेज हमला करवा दिवा जिसमे पत्रकार के भाई के साथ कर्मचारियो से मारपीट करते हुए पथराव कर उत्पात मचाते हुए जमकर तोड-फोड की साथ ही घर के बाहर खडी कार के कॉच फोड भी हवाई फायर करते हुए मोटर सायकल और स्कार्पियो मे सवार विधायक के गुर्गे भाग निकले हालांकी पूरी घटना मकान पर लगे सी.सी टीवी केमरे मे कैद तो हो गई लेकिन पत्रकार के परिवार पर इस तरह हमले की घटना ने यह साबित कर दिया की भले ही सरकार कांग्रेस की बन गई हो पर आज भी पुलिस प्रशासन ऐसे भाजपा विधायक बहादुरसिह चौहान के इशारो पर नाचती है।

घटना सीसीटीवी में कैद

जिसका जिता जागता उदाहरण पुलिस SDOP धर्मराज सूर्यवंशी और झार्डा थाना प्रभारी मनोहरलाल मीणा है जिनकी कार्यप्रणाली पर सवाल तो खडे हो ही रहे है साथ ही भाजपा विधायक बहादुरसिह चौहान की धमकी के साथ गुन्डागिर्दी भी खुलकर सामने आ गई है जिसमे एक ओर तो खुदके समर्थक पत्रकार के घर हमला कर अराजकता फेला रहे है वहीं दुसरी ओर विधायक बहादुरसिह खुद मध्यप्रदेश कांग्रेस सरकार के विधायको को विडियो मे धमकी देते दिख रहा है।

पत्रकार एवं उनके परिवार के सदस्यों पर झूठा प्रकरण पंजीबद्ध

पुरे मामले मे यदी बात की जाये तो जो की CCTV में जो आरोपी दिखाई दे रहा वो नाहरखेडा का है जिसका नाम कालू सिंह बताया जा रहा है जिसके सहयोगी गोपाल सिंह कानाखेडी ने मिलकर पत्रकार मांगीलाल कुमावत की भाई मुकेश कुमावत के साथ मारपीट कर जान से मारने की धमकी देते हुए कुल्हाड़ी से हमला किया था और इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचे पत्रकार मांगीलाल पर रिपोर्ट न लिखने का दबाव बनाते हुवे उल्टा आरोपी कालू सिंह ने ही पत्रकार मांगीलाल कुमावत एवं उनके परिवार के सदस्यों पर झूठा प्रकरण पंजीबद्ध करवा दिया।

सुरक्षा को लेकर खड़े हो रहे सवाल

उल्लेखनीय है कि बीते विधानसभा चुनाव में मांगीलाल कुमावत जो की कांग्रेस के वरिष्ठ नेता है तथा पत्रकार भी हैं उन्होंने कांग्रेस का साथ नहीं देते हुए निर्दलीय चुनाव लड़े दिनेश जैन बॉस के साथ काम किया था बताया जाता है कि भाजपा विधायक बहादुरसिह ने ईसी बात को लेकर अपने गुर्गो के जरिये घटना को अंजाम दिया और हमेशा विवादो मे रहने वाले बहादुरसिंह ने ईससे पहले भी पत्रकारो को धमकी देने से लेकर अनेक घटनाये हो चुकी है बहरहाल अब सत्ता मे लोटी कांग्रेस सरकार इस घटना को लेकर पत्रकारो की सुरक्षा को मद्देनजर इस घटना पर क्या एक्शन लेती है यह देखने वाली बात होगी।

 


Share
Bulletin