जिले में तीन गांव आज भी शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं से वंचित

जिले में तीन गांव आज भी शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं से वंचित

बुरहानपुर जिले में आज भी तीन गांव ऐसे है जो शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं से वंचित है दरअसल ऐसा इस लिए है कि वर्ष 2011 के सामाजिक आर्थिक सर्वे सूची से जिले के ग्राम भोलाना, उमरदा और सिरसौदा गांव के नाम गायब है 2011 के सर्वे सूची में हुई लापरवाही का खामियाजा बेचारे गांव के गरीब लोगों को भुगतना पड़ रहा है वही सर्वे में नाम नही होने से इन लोगो को सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजना प्रधानमंत्री आवास योजना और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का भी लाभ नही मिल पा रहा है जिस कारण लोग आज भी टूटे फूटे झोपड़े में रहने को मजबूर है।

वही गांव की महिलाएं आज भी मिट्टी के चूल्हे पर खाना बनाकर अपनी आँखें खराब कर रही है गांव के लोग अनेक बार अपनी गुहार लेकर कलेक्टर और जनप्रतिनिधियों के पास पहुंचे लेकिन नतीजा सिफर ही रहा दूसरी ओर इस मामले में जनपद पंचायत के सीईओ अनिल पवार की माने तो ग्राम उमरदा और सिरसौदा में कोई भी व्यक्ति पात्र नही पाया गया है जिस कारण इनको प्रधानमंत्री आवास और उज्ज्वला योजना का लाभ नही मिल पा रहा है इतना जरूर है कि भोलाना गांव के सर्वे छूट चुका होगा जिस कारण इस गांव का नाम सर्वे में नही आया।

फिलहाल अभी सर्वे को शासन ने लॉक कर रखा है जिस कारण इन गांवों का सर्वे नही हो पायेगा वही दूसरी और ग्राम के सरपंच ने सरकार और स्थानीय प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाया है ग्राम पंचायत उमरदा की सरपंच मंगला पाटिल ने कहा है कि में कांग्रेस पार्टी की निर्वाचित सरपंच हूं इस कारण मेरे गाँव को योजनाओं से महरूम किया जा रहा हैजबकि स्वच्छ भारत अभियान में पंचायत ने जिले में सबसे अच्छा कार्य कर घर घर शौचालयों का निर्माण करवाया जिस कारण हमारी पंचायत जिले में प्रथम रही बहरहाल जो भी कारण रहे हो परन्तु आज भी जिले में 3 गांव ऐसे है जिसमे प्रधानमंत्री की अतिमहत्वकांशी आवास योजना का लाभ ग्रामीणों को नही मिल पा रहा है।

 


Share
Bulletin