दुर्गः शराब दुकान में चोरी का हुआ खुलासा, दुकान के नौकर व चौकीदार ने ही रचा कांड

दुर्गः शराब दुकान में चोरी का हुआ खुलासा, दुकान के नौकर व चौकीदार ने ही रचा कांड

चंद्रकांत देवगन- 3 माह पूर्व शराब दुकान में हुई चोरी के मामले में पुलिस को सफलता मिल गई है। शराब दुकान में काम करने वाले कर्मचारियों ने ही कैश काउंटर से ही 3.59 हजार पर हाथ की सफाई कर डाली और घटना को चोरी का स्वरूप रचने की साजिश रची। मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें 2 आरोपी शासकीय शराब दुकान में चौकीदार व सेल्समैन के पद पर नौकरी करते थे। वहीं 2 अन्य चौकीदार वीरेंद्र कोसरे के गाँव के दोस्त थे। चोरी की घटना के बाद एजेंसी ने चारों कर्मचारियों को काम से हटा दिया था, जिसके बाद पुलिस संदिग्धों मान कर लगातार उन पर नजर बनाये रखी थी। मुखबिर से पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई कि संदिग्ध लोगों के द्वारा किया जाने वाला खर्चा आम जीवन शैली से अलग है। आरोपियों के महंगी चीजों का शौक, बेरोजगारी में भी मौज मस्ती का जीवन, आय से अधिक खर्च ने पुलिस के शक को यकीन में बदल दिया।

पैसों के लालच व मौज मस्ती के चलते घटना को दिया अंजाम

पुलिस ने संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जिसमें उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया। इस घटना को अंजाम देने वाले शासकीय शराब दुकान के चौकीदार वीरेंद्र कोसरे ने सेल्समैन उमाशंकर व अपने 2 दोस्तों सोनू भारती व सचिन बंजारे के साथ मिलकर जो अपराध की घटना को अंजाम दिया था, उसके गुनाहों की कुंडली पुलिस के सामने खुल गई। वहीं पुलिस की पूछताछ में सोनू भारती और सचिन बंजारे ने पद्मनाभपुर चौकी क्षेत्र में चोरी की 2 घटना को अंजाम देना भी स्वीकार किया। शराब दुकान में सेल्समैन व चौकीदार के तौर पर काम करने वाले रोजगार प्राप्त लोग पैसों के लालच व मौज मस्ती के चलते आज अपराध की दुनिया के गिरफ्त में आ चुके हैं। पुलिस ने भी इन मौज मस्ती करने वाले चोरों को अब जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है।


Share
Bulletin