शासकीय भूमि पर हो गया निजी स्कूल का निर्माण, कई बच्चों का भविष्य दांव पर

शासकीय भूमि पर हो गया निजी स्कूल का निर्माण, कई बच्चों का भविष्य दांव पर

होंशगाबाद जिले की सिवनी मालवा तहसील के ग्राम बाबरी में श्री नर्मदा ऐकेडमी नाम से शासकीय जमीन पर स्कूल संचालित किया जा रहा है जिसकी जानकारी सूचना के अधिकार के तहत सेवानिवृत्त फौजी भागीरथ यदुवंशी ने ली तब उन्हें पता चला कि स्कूल शासकीय जमीन पर संचालित किया जा रहा है।

शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 111. 05 का किरायानामा पिता ने पुत्र के नाम बना दिया वही स्कूल में जिन शिक्षक शिक्षिकाओं के नाम चलाए जा रहे है उनमें से अधिकांश लोग कहीं और ही कार्यरत है वो गांव पढ़ाने ही नहीं आते है, जमीन के संबध में जब जिम्मेदार अधिकारीयों से बात की तो पता चला कि स्कूल सच में शासकीय जमीन पर संचालित किया जा रहा है जिसको लेकर कार्यवाही जारी है अब सवाल यह उठता है कि यदि अभी कार्यवाही हो जाती है तो प्रवेशित बच्चों का भविष्य ओर पालकों का समय खराब होने से बच जाएगा और यदि देरी से होती है तो कई बच्चों का भविष्य बर्बाद हो जाएगा।

स्कूल खोलने के लिए शासकीय जमीन मिल जाए तो इससे ज्यादा सोने पर सुहागा वाली बात कोई और हो ही नहीं सकती क्योंकि वर्तमान में स्कूल भवन तो बनाना आसान है लेकिन स्कूल के लिए जमीन खरीदना आसान नहीं है लेकिन ऐसी ही शासकीय जमीन पर बिना किसी रोक टोक के एक स्कूल बन भी गया और संचालित भी होने लगा लेकिन जिम्मेदार अधिकारीयों की अभी तक कुभकर्णी नींद नहीं खुली।

तहसीलदार प्रमेश जैन ने बताया कि स्कूल शासकीय जमीन पर संचालित किया जा रहा है कार्यवाही की जा रही है।  भागीरथ यदुवंशी (रिटायर्ड फौजी) ने वताया की ग्राम बाबरी में श्री नर्मदा ऐकेडमी नाम से शासकीय जमीन पर स्कूल संचालित किया जा रहा है जिसकी जानकारी सूचना के अधिकार में सामने आई है, इस सम्बंध में किसी भी अधिकारियों ने भी ध्यान नही दिया।
 


Share
Bulletin