स्थानीय नेता भाजपा की नीतियों से नाराज, बाहरी नेता को फिर से बनाया प्रत्याशी

स्थानीय नेता भाजपा की नीतियों से नाराज, बाहरी नेता को फिर से बनाया प्रत्याशी

मनोज सोलंकी - भाजपा स्थानीय दावेदार के रूप में टिकट की मांग करने वाले प्रमुख नेता पूर्व मंडी बोर्ड डायरेक्टर राजेश अग्रवाल को टिकट नहीं मिलने पर वे 6 नवंबर को निर्दलीय रूप से नामांकन पत्र दाखिल करेंगे पत्रकार वार्ता उन्होंने में उन्होंने कहा कि स्थानीय जनता व जनप्रतिनिधियों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाते हुए जनता की मांग पर चुनाव लड़ने का एलान किया उन्होंने अपने समर्थकों की बैठक भी बुलाई थी जिसमें कार्यकर्ताओं ने उनसे निर्दलीय चुनाव लड़ने की मांग की अग्रवाल ने बताया कि पार्टी ने यहा से इंदौरी बाहरी नेता को टिकट देकर स्थानीय नेता व् कार्यकर्ताओ की उपेक्षा की है। 

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पार्टी शेखावत का टिकट काटकर किसी भी अन्य स्थानीय नेता को टिकट नही देगी तो में निर्दलीय चुनाव दमखम से लड़ूंगा। मालूम हो कि 2013 में है भाजपा ने यहाँ इंदौर के भाजपा नेता भंवरसिंह शेखावत को टिकट देकर मैदान में उतारा था अब पार्टी ने यहाँ दोबारा शेखावत को मौका दिया है शेखावत के खिलाफ क्षेत्र के स्थानीय नेताओं ने मोर्चा खोल रखा था।

स्थानीयवाद का मुद्दा लेकर शेखावत के स्थान पर किसी भी स्थानीय नेता को ही टिकट देने की मांग की गई थी इसको लेकर सभी नेताओं ने एकमत होकर हाईकमान के सामने अपना पक्ष रखकर बाहरी नेता शेखावत का टिकट काटने की मांग की थी किन्तु पार्टी ने दोबारा शेखावत को ही मैदान में उतारा हे इससे स्थानीय नेता व् कार्यकर्ता नाराज है।


Share
Bulletin