पुलिस पार्टी पर रेत माफियाओं ने किया जानलेवा हमला, रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर फरार

पुलिस पार्टी पर रेत माफियाओं ने किया जानलेवा हमला, रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर फरार

गिर्राज बौहरे : चम्बल संभाग में रेत माफियाओं के द्वारा पुलिस पर हमले का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भिण्ड में चम्बल के रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़ने गई पुलिस पार्टी पर रेत माफियाओं ने जानलेवा हमला कर दिया। घटना के बाद रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर फरार हो गए। घायल आरक्षक को इलाज के लिए मेहगांव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

दरअसल अटेर थाना पुलिस को सूचना मिली की चम्बल सेंचुरी से प्रतिबंधित रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली में रेत भरकर अबैध उत्खनन कर रहे हैं। जिसकी सूचना पर पुलिस पार्टी मौके पर पहुची। पुलिस को देखकर रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर भागे। पुलिस टीम ने पीछा कर गोरमी क्षेत्र के कुटरोली गांव में ट्रैक्टर को पकड़ लिया औऱ ट्रैक्टर चालक को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद टीम अधिकारियों के साथ निकल गई। वही आरक्षक अकेला रह गया। जब उसने गाड़ी में बैठकर थाने जाने का प्रयास किया उसी दौरान वहाँ एक दर्जन से अधिक रेत माफिया आ धमके और आरक्षक उमेश जाटव पर बेरहमी के साथ हमला कर दिया। 

इस हमले के बाद आरक्षक उमेश जाटव के सिर में चोट लगने से गभीर रूप से घायल हो गए। हमले की सूचना मिलते ही पुलिस के बरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुचे। लेकिन रेत माफिया हमले के बाद घटना स्थल से फरार हो गए। घायल आरक्षक उमेश जाटव को इलाज के लिए मेहगांव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

चम्बल संभाग में रेत माफियाओं के द्वारा पुलिस पर हमले का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भिण्ड में चम्बल के रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़ने गई पुलिस पार्टी पर रेत माफियाओं ने जानलेवा हमला कर दिया। घटना के बाद रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर फरार हो गए। घायल आरक्षक को इलाज के लिए मेहगांव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

दरअसल अटेर थाना पुलिस को सूचना मिली की चम्बल सेंचुरी से प्रतिबंधित रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली में रेत भरकर अबैध उत्खनन कर रहे हैं। जिसकी सूचना पर पुलिस पार्टी मौके पर पहुची। पुलिस को देखकर रेत माफिया ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर भागे। पुलिस टीम ने पीछा कर गोरमी क्षेत्र के कुटरोली गांव में ट्रैक्टर को पकड़ लिया औऱ ट्रैक्टर चालक को गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद टीम अधिकारियों के साथ निकल गई। वही आरक्षक अकेला रह गया। जब उसने गाड़ी में बैठकर थाने जाने का प्रयास किया उसी दौरान वहाँ एक दर्जन से अधिक रेत माफिया आ धमके और आरक्षक उमेश जाटव पर बेरहमी के साथ हमला कर दिया। 

इस हमले के बाद आरक्षक उमेश जाटव के सिर में चोट लगने से गभीर रूप से घायल हो गए। हमले की सूचना मिलते ही पुलिस के बरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुचे। लेकिन रेत माफिया हमले के बाद घटना स्थल से फरार हो गए। घायल आरक्षक उमेश जाटव को इलाज के लिए मेहगांव अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 


Share
Bulletin