कोरबाः आरटीओ बाबू बन कर दर्जनों ग्रामीणों से लाखों रूपये लेकर हुआ फरार

कोरबाः आरटीओ बाबू बन कर दर्जनों ग्रामीणों से लाखों रूपये लेकर हुआ फरार

मनोज यादव- सरकारी नौकरी और लोन दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी का मामला सामने आया है। दिनेश कुमार पटेल नामक युवक खुद को आरटीओ का बाबू बता कर दर्जनों ग्रामीणों से लाखों रूपये लेकर चंपत हो गया।पीड़ित ग्रामीण इसकी शिकायत कोरबा पुलिस पुलिस अधीक्षक से की है जहाँ फरार आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर न्याय की गुहार लगाई है। कोरबा पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे ये ग्रामीण हरदी बाजार क्षेत्र के रहने वाले हैं। इन ग्रामीणों को एक युवक ने आरटीओ आफिस में नौकरी और लोन दिलाने के नाम पर लाखों रूपये ठगी कर लिया। ग्रामीणों की माने तो दिनेश कुमार पटेल नामक युवक खुद को जांजगीर चांपा जिला निवासी बता कर कोरबा के आरटीओ आफिस में बाबू के पद पर पदस्थापना बताता था और साथ में यातायात सलाहकार भी।

लोन और नौकरी के बहाने से 5-7 हजार एडवांस ले लिये ग्रामीणों से

कथित आरटीओ बाबू दिनेश कुमार पटेल हरदीबाजार क्षेत्र के सराई सिंगार और मुड़ापार में अपना यातयात सलाहकार का विजिटिंग कार्ड बांटते जमकर प्रचार किया। गांव में लोगों के साथ मीटिंग कर, उन्हें मुख्यमंत्री योजना के तहत पांच लाख का लोन दिलाने और उसके बाद उन्हें केवल ढाई लाख ही जमा करने का स्कीम बताया और उसके एवज में ग्रामीणों से पांच से सात हजार एडवांस ले लिया। इसके झांसे में दो गांव के 71 लोग आये। ये सिलसिला यहीं नहीं थमा कथित आरटीओ बाबू इन्ही में से कुछ ग्रामीणों का आरटीओ विभाग में बाबू के पद पर नौकरी दिलाने के नाम से 80 से 90 हजार भी ले लिया। ग्रामीणों से मोटी रकम देने के बाद 4 से 5 माह तक घुमाते रहा।

आरोपी का मोबाइल बंद होने पर लोगों को हुआ ठगे जने का अहसास

जब ग्रामीण लोन की पैसा और नौकरी का जॉइनिंग लेटर को लेकर दबाव बनाने लगे तो उसने बकायदा जिला उद्योग विभाग से जारी लोन स्वीकृति का लिस्ट और नौकरी दिलाने वाले लोगों को आरटीओ ऑफिस से जारी जॉइनिंग लेटर हाथ में थमा दिया। जिसमें ग्रामीण अपना नाम देख कर गदगद हो गए। जिस दिनांक को लोन पास होना था और जिस दिनांक को आरटीओ ऑफिस में ड्यूटी ज्वाइन करनी थी, उस दिनांक से पहले ही उनका मोबाईल बन्द दिखाने लगा। जब लोगों ने इसके संबंध में जानकारी एकत्रित किया तो पता चला कि दिनेश कुमार पटेल नाम का युवक ना ही आरटीओ ऑफिस में बाबू है और ना ही यातायात सलाहकार। तब जाकर लोग इसकी शिकायत करने कोरबा पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। कोरबा डीएसपी रामगोपाल कार्यालय ने बताया कि ग्रामीणों की शिकायत है कि दिनेश कुमार पटेल नामक युवक लोन और नौकरी दिलाने के नाम उनसे रुपए लिया है। मामले को गंभीरता से लेते पुलिस विवेचना में जुट गई है।

पीड़ित ग्रामीणों की माने तो वह लोन लेने और नौकरी दिलाने के नाम पर दिनेश कुमार पटेल को पैसे  उसने घर के गहने और जमीन गिरवी रख कर दिये है। ऐसे में उनके साथ ऐसी घटना सामने आने के बाद अब उनके सामने बड़ी संकटा खड़ी हुई है। फिलहाल पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेते कथित आरटीओ बाबू की तलाश शुरू कर दी है।


Share
Bulletin