9 गांव के लगभग 2000 लोगों ने किया चुनाव बहिष्कार, आदिवासियों ने भी नही किया मतदान

9 गांव के लगभग 2000 लोगों ने किया चुनाव बहिष्कार, आदिवासियों ने भी नही किया मतदान

देवेंद्र कुशवाहा : एक तरफ मध्य प्रदेश में मतदान करने लोग आगे आकर मतदान कर रहे है । वही होषंगबाद जिले के बाबई ब्लाक में वन भूमि से विस्थापित किये लोगो ने मतदान नही किया। मतदान का बाहिष्कार करने वालो से मिलने या समझाइस देने कोई अधिकारी भी नही पहुचे।

लोकतंत्र को मजबूत बनाने मतदान जरूरी है लेकिन बाबई ब्लाक के विस्तापित गाँवो में आदिवासी लोगो ने मतदान नही किया । लोग शाम 5 बजे एक जुट होकर गांव में बैठे मिले। गांव के लोगो का कहना है कि उन्हें पट्टे नही दिए गये न ही उन्हें पंचायत द्वारा शौचालय बनांकर दिया गया है जिसके चलते लोग काफी परेशान होते है।

बता दें की सरकार ने सतपुड़ा टाइगर रिर्जव के वन भूमि से आदिवासी गाँवो को विस्तापित कर राजस्व भूमि में शिफ्ट तो किया लेकिन शर्त के अनुसार उन्हें जीवन यापन के लिए जमीन नही दी और दी है तो उसके पट्टे नही दिए जिनहे जमीन दी है उन्हें अभी तक पट्टे नही दिए गए है जिसके चलते ग्रामीणों को किसान क्रेडिट कार्ड सहित उचित मूल्य पर मिलने वाला खाद बिज आदि नही मिल पा रहा है । वही ग्रामीणों ने बतया की उन्हें पंचायत द्वारा अभी तक शौचालय भी बनांकर नही दिए है और पूरा जिला odf यानि खुले में शौच से मुक्त हो गया है। बता दे की ग्राम साकोट , काजरी , रोरी घाट आदि के ग्रामीणों ने बार बार स्मजाइस के बाद भी मतदान नही किया।


Share
Bulletin